शिंदे गुट को नया नाम तो मिला लेकिन चुनाव चिह्न के लिए करना होगा इंतज़ार

सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली-मुंबई/Shiv Sena name & sybol: भारत निर्वाचन आयोग द्वारा महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को ‘शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे’ और एकनाथ शिंदे गुट को ‘बालासाहेबची शिवसेना’ नाम आवंटित कर दिए हैं। ‘आयोग’ ने उद्धव ठाकरे गुट को तो ‘ज्वलंत मशाल’ चुनाव चिह्न का आवंटन कर दे दिया है। हालांकि शिंदे गुट द्वारा सुझाए गए चुनाव चिह्नों को खारिज करते हुए 3 नए चुनाव चिह्नों की सूची मांगी है।

उद्धव ठाकरे गुट के नेता भास्कर जाधव ने चुनाव आयोग के ताजा फैसले को अपनी बड़ी जीत बताया है। दरअसल, ठाकरे और शिंदे गुटों ने चुनाव आयोग को तीन-तीन वैकल्पिक चिह्न और नाम दिए थे। चुनाव आयोग ने जांच के बाद शिंदे गुट द्वारा भेजे गये तीनों चुनाव चिह्नों में से किसी को धार्मिक अर्थों का हवाला देते हुए चुनाव चिह्न के रूप में आवंटित करने से इन्कार कर दिया है।

बताते चलें कि शिवसेना पर अधिकार की लड़ाई के बीच चुनाव आयोग द्वारा बीते शनिवार को शिवसेना का तीर-कमान का चुनाव चिह्न फ्रीज कर दिया गया था। आयोग ने आगामी 3 नवंबर को अंधेरी (पूर्व) विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में दोनों गुटों द्वारा पार्टी का नाम और चुनाव चिन्ह ‘तीर-कमान’ के उपयोग पर रोक लगा दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!