डिप्टी एसपी की तहरीर पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज, क्राइम ब्रांच और सर्विलांस की छह टीमें लगाईं

सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/attempt to kill of Deputy S.P. CBI: दिल्ली से गोरखपुर लौटे CBI के डिप्टी एसपी रूपेश कुमार श्रीवास्तव की कार को ट्रक से टक्कर मारकर जान से मारने की कोशिश की गई। हालांकि, कार के ड्राइवर ने सूझबूझ से डिप्टी एसपी और अपनी जान बचा ली। ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया, जिससे ट्रक ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई सूचना पर जिले के एसपी और आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं।

डिप्टी एसपी की तहरीर पर गुलरिहा पुलिस ने हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। सीबीआई मुख्यालय से भी अफसरों को जांच के निर्देश दिए गए हैं।
सीबीआई डिप्टी एसपी रूपेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि वह वर्तमान में कई अति संवेदनशील मामलों की जांच कर रहे हैं। इनमें पूर्ववर्ती केंद्र और राज्य सरकारों से जुड़े कई नामचीन लोग आरोपी हैं। ऐसे में जिस प्रकार ट्रक दो बार उनकी स्कॉर्पियो को ठोकर मारते हुए गिट्टी पर जाकर पलट गया, उससे किसी साजिश से इन्कार नहीं किया जा सकता है।

जानकारी के मुताबिक, महराजगंज जिले के श्यामदेउरवां थाना क्षेत्र के पिपरालाला निवासी रूपेश कुमार श्रीवास्तव केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) नई दिल्ली की शाखा में डिप्टी एसपी के पद पर तैनात हैं। गुरुवार को ही नई दिल्ली से एक दिन की छुट्टी पर अपने घर महाराजगंज आए थे और शाम को महराजगंज से गोरखपुर की तरफ जा रहे थे।

इसी बीच, बरगदहीं में उनकी स्कॉर्पियो गाड़ी में एक ट्रक ने दो बार ठोकर मारी और उसके बाद गिट्टी पर चढ़कर पलट गया। ट्रक की ठोकर से उनकी गाड़ी के पीछे का हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। उनके ड्राइवर ने दोनों बार की ठोकर में सूझबूझ दिखाते हुए अपनी और डिप्टी एसपी की जान बचा ली। एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। गुलरिहा प्रभारी निरीक्षक उमेश कुमार बाजपेयी ने बताया कि हत्या के प्रयास सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कर जांच की जा रही है। फिलहाल ट्रक चालक की पहचान कुशीनगर जिले के लक्ष्मीपुर कुबेरस्थान निवासी रतन कुमार के रूप में हुई है।

कई हाई प्रोफाइल केस देख रहे हैं रूपेश

उल्लेखनीय है कि सीबीआई अफसर रूपेश श्रीवास्तव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव के चारा घोटाला और रेलवे भर्ती घोटाला, कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम सहित कई राज्य और केंद्र सरकार के मंत्रियों के हाई प्रोफाइल केस देख रहे हैं। सीबीआई ऑफिसर श्रीवास्तव ने ही पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को गिरफ्तार भी किया था। ऐसे में उन पर जानलेवा हमले के पीछे किसी बड़ी साजिश होने की आशंका जताई जा रही है।

घटनास्थल से जुटाए गए फॉरेंसिक सैंपल

एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर ने बताया कि सीबीआई ऑफिसर की तहरीर पर तत्काल केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू करवा दी गई है। घटनास्थल पर डॉग स्क्वायड और फॉरेंसिक टीम भेजकर सैंपल भी लिए गए हैं।
वहीं, एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी का कहना है कि ड्राइवर, उसके मालिक व अन्य लोगों की सीडीआर जांची जाएगी। प्रथमदृष्टया मामला दुर्घटना का ही लग रहा है लेकिन सभी बिंदुओं की पड़ताल के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचा जा सकता है।
एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर का कहना है कि मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए हर एक पहलू की बारीकी से जांच की जा रही है. घटना के पीछे की वजह तलाशने के लिए पुलिस, क्राइम ब्रांच और सर्विलांस की 6 टीमें लगाई गई हैं। पुलिस जल्द ही इस मामले की तह में जाकर सब कुछ साफ कर देगी। मैं खुद इस मामले की मॉनिटरिंग कर रहा हूं।

सीबीआई डिप्टी एसपी रूपेश श्रीवास्तव

क्या बोले डिप्टी एसपी रूपेश कुमार श्रीवास्तव?

सीबीआई डिप्टी एसपी रूपेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया, ”पहली बार में जब ट्रक ने मेरी गाड़ी को टक्कर मारी तो हादसा ही लगा, लेकिन दोबारा उसने अपनी स्टेयरिंग काटकर गाड़ी में टक्कर मारी, तो यह जानबूझकर की गई साजिश लगी। मेरे ड्राइवर ने काफी सूझ-बूझ से जान बचाई। उसने गाड़ी तेज गति से आगे बढ़ाई। इस बीच, ट्रक चालक ने ट्रक गिट्टी पर चढ़ा दिया जिससे वह पलट गया। गाड़ी आगे रोककर मैं और ड्राइवर वहां गए तो ट्रक में कोई नहीं दिखा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!