सत्य पथिक वेबपोर्टल/नई दिल्ली/Bihar Politics: केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस ने रविवार को प्रेस कांफ्रेंस कर उन अफवाहों को खारिज कर दिया कि उसके पांच में से तीन सांसद महागठबंधन में शामिल होने की योजना बना रहे थे।

राष्ट्रीय लोक जनता पार्टी के अध्यक्ष पारस और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज ने अटकलों का खंडन करने के लिए यहां एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें दो सांसद चंदन कुमार और वीना देवी थे।

अफवाहों में कोई सच्चाई नहीं: प्रिंस राज
प्रिंस राज ने दावा किया कि तीसरे सांसद महबूब अली कैसर भी औपचारिक रूप से यह घोषणा करने आए थे कि वह एनडीए में ही बने रहने के पार्टी के रुख के साथ हैं। हालांकि कोरोना संक्रमित होने की वजह से कैसर प्रेस वार्ता में शामिल नहीं हो पाए। समस्तीपुर के सांसद प्रिंस राज ने कहा कि आप खुद देख सकते हैं कि पार्टी बरकरार है और अफवाहों में कोई सच्चाई नहीं है। 

इसलिए लग रही थीं अटकलें
दरअसल, लोजपा के तीन सांसदों में से एक वीना देवी की शादी जद (यू) के एमएलसी से हुई है जबकि कैसर का बेटा राजद विधायक है। इसके अलावा, चंदन कुमार अपने बड़े भाई सूरज भान सिंह की सलाह-सुझाव से ही राजनीति में कदम बढ़ाते हैं। सूरजभान दिवंगत पासवान के वफादार माने जाते हैं।

चाचा-भतीजे NDA के साथ
बिहार की सियासत में पिछले हफ्ते हुई उथल-पुथल के बाद चाचा पारस और अलग-थलग पड़े भतीजे चिराग पासवान ने एनडीए में ही रहने का फैसला किया है। लोजशपा ने 2020 के विधानसभा चुनावों में सिर्फ एक सीट जीती थी। चिराग की पार्टी के एकमात्र विधायक राज कुमार सिंह भी पिछले साल जद (यू) में शामिल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!