सत्य पथिक वेबपोर्टल/बरेली/Patel Jayanti Celebrations: पटेल जयंती समारोह कुर्मी छात्रावास में बहुत धूमधाम से मनाया गया। समारोह के मुख्य अतिथि छात्रावास के संरक्षक पूर्व केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार रहे।

विशिष्ट अतिथि के रूप में नवाबगंज विधायक डॉक्टर एमपी आर्य, पूर्व मेयर कुंवर सुभाष पटेल जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन वीरेंद्र गंगवार वीरू, रोटरी के पूर्व गवर्नर पीपी सिंह, कर्नल पुरुषोत्तम सिंह, पूर्व विधायक नरेंद्र पाल सिंह, आरडी पटेल, अर्बन के पूर्व महाप्रबंधक हर्षवर्धन आर्य, पूर्व विधायक छोटेलाल गंगवार, राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षक सत्यदेव यदुवंशी एवं लाल बहादुर गंगवार प्रमुख रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता केपी सेन एडवोकेट ने और संचालन रघुवीर सिंह ने किया।

पूर्व माध्यमिक विद्यालय जोगीठेर में लौहपुरुष सरदार पटेल की जयंती एकता दिवस के रूप में मनाई गई। राष्ट्रीय एकता दिवस के उपलक्ष में सुबह 7:30 बजे एकता दौड़ हुई। बाद में विचार गोष्ठी में सरदार पटेल के पद चिन्हों पर चलने का संकल्प लिया गया। इस अवसर पर विद्यालय में सरदार वल्लभ भाई पटेल के जीवन पर आधारित निबंध प्रतियोगिता का आयोजित की गई। प्राथमिक तथा पूर्व माध्यमिक स्तर के बच्चों की इस प्रतियोगिता में पायल, शगुन मौर्य, सेजल, सुशील, सोनाली, नीलोफर ने अपनी-अपनी कक्षाओं में प्रथम स्थान पर रहे। बाद में भाषण प्रतियोगिता भी हुई। इसमें विनीता, नूरी, शगुन, सोहाना, आदर्श, सेजल, सोनाली को प्रथम तथा द्वितीय स्थान मिला। निर्णायक मंडल में दीपा गुप्ता, रेनू गंगवार, रुखसाना बेगम, मीनू रस्तोगी, नीलम सक्सेना शामिल रहे। विद्यालय के प्रधानाध्यापक एवं राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त शिक्षक लाल बहादुर गंगवार द्वारा सभी बच्चों को पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ अध्यापक रमेश सागर, चरण सिंह, गौरव गंगवार, आकांक्षा रावत, कृष्णा, स्वाति, मोहन सिंह, चरण सिंह, सुधांशु बाजपेई, अनिल शर्मा, रुचि दिवाकर, रिंपल सिंह आदि भी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

आरपीएम पब्लिक स्कूल में भी मनाई गई पटेल जयंती

मीरगंज। भारत के सच्चे सपूत सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती आरपीएम पब्लिक स्कूल में एकता दिवस के रूप में धूमधाम से मनाई गई। विद्यालय के बच्चों ने एकता दौड़ में हिस्सा लिया और देशभक्ति के गीत भी गाए। उप प्रधानाचार्या श्रीमती अनुपम राठौर ने बच्चों को बताया कि सरदार वल्लभभाई पटेल एक लौह पुरुष थे। उन्होंने 500 से ज्यादा रियासतों को भारतीय गणतंत्र में शामिल कराने के साथ ही देश की आजादी और अखंडता के लिए आजीवन अविस्मरणीय प्रयास किए। वे देश के पहले उप प्रधानमंत्री और प्रथम गृह मंत्री भी रहे।

विद्यालय प्रबंधक नितिन शर्मा ने बताया कि सरदार पटेल ने देश की अखंडता के लिए भारतवर्ष के सभी राजाओं को राजी किया और भारतवर्ष की 565 रियासतों को एक सूत्र में बांधकर नए भारत का निर्माण किया। दूसरे शब्दों में हम उन्हें भारत का शिल्पकार भी कह सकते हैं। वे एक सच्चे देशभक्त और सच्चे राष्ट्र प्रेमी थे। श्री शर्मा ने उनके जीवन काल की कई महत्वपूर्ण घटनाओं की भी विस्तार से जानकारी दी। अंत में सभी ने सरदार पटेल के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी। कार्यक्रम में शिवा, स्वाति, जागृति, अर्चना, गीता, राधा, दीक्षा, अंजली मैम और महेंद्र सर आदि शिक्षक-शिक्षिकाएं शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!