देहरादून/Dr. Indira Hridyesh Expires/सत्य पथिक न्यूज नेटवर्क: उत्‍तराखंड की नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस की वरिष्‍ठ नेता डॉ. इंदिरा हृदयेश का रविवार को दिल्ली में अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वह राजधानी के उत्तराखंड सदन में ठहरी हुईं थीं। राज्य में एक दिवसीय राजकीय शोक घोषित किया गया है।


शनिवार को उत्तराखंड सदन में प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव द्वारा आहूत कांग्रेस की बैठक में भाग लेने के बाद अचानक डॉ. हृदयेश की तबीयत बिगड़ गई। कुछ देर बाद ही उनका निधन हो गया।

80 वर्षीय डॉ. हृदयेश के आकस्मिक निधन पर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने गहरा दुख व्यक्त किया है। वे हल्द्वानी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व कर रही थीं। डा. हृदयेश कुछ महीने पहले कोरोना संक्रमित हुई थीं, लेकिन इससे उबर कर वह जल्द ही राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय हो गई थीं। इन दिनों वह आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों के क्रम में पार्टी को मजबूत करने में जुटी हुई थीं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह भी रविवार को उत्तराखंड सदन में ही मौजूद थे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि डॉ. हृदयेश के आकस्मिक निधन से उत्तराखंड ऒर कांग्रेस को गहरा आघात पहुंचा है। वहीं, पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट किया कि कांग्रेस की वरिष्‍ठ नेत्री इंदिरा हृदयेश के निधन के दुखद समाचार से मन अंत्‍यंत दुखी है। डॉ. हृदयेश अपने राजनीतिक जीवन में कई बड़े पदों पर रहीं। पूर्व मुख्‍यमंत्री विजय बहुगुणा, वन मंत्री हरक सिंह रावत, मंत्री सुबोध उनियाल समेत कई मंत्रियों व नेताओं ने उनके निधन पर शोक जताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!