सत्य पथिक वेबपोर्टल/वाराणसी/Gyanvapi Shringar Gauri Pooja Case: वाराणसी के जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने बहुचर्चित ज्ञानवापी श्रृंगार गौरी पूजा मामले को सुनवाई योग्य मानते हुए मुस्लिम पक्ष मसाजिद कमेटी की याचिका खारिज कर दी है। वाराणसी जिला न्यायालय में अब इस मामले की अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी।

केस नंबर 693/2021 (18/2022) राखी सिंह बनाम उत्तर प्रदेश राज्य की पोषणीयता के मामले में वाराणसी के जिला जज श्री विश्वेश ने आज सोमवार को सुनवाई की। दोनों पक्षों के वकीलों की दलीलों पर गौर करने के बाद जिला जज ने फैसला सुनाया कि यह मुकदमा न्यायालय में चलने योग्य है। इसके साथ ही उन्होंने प्रतिवादी संख्या 4 अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के प्रार्थना पत्र को खारिज कर दिया।
जिला जज ने जब फैसला सुनाया तो हिंदू पक्ष के वकील हरिशंकर जैन और विष्णु जैन कोर्ट में ही मौजूद थे। 5 वादी महिलाओं में से 3 – लक्ष्मी देवी, रेखा आर्य और मंजू व्यास भी आई थीं। हालांकि दो वादिनी राखी सिंह और सीता साहू नहीं पहुंच पाईं। कोर्ट रूम में पक्षकारों और उनके वकीलों के कुल करीब 40 लोगों को ही एंट्री मिली। कोर्ट रूम से 50 कदम दूर ही बाकी लोगों की इंट्री रोक दी गई थी।

ज्ञानवापी परिसर में श्रंगार गौरी की पूजा की मांगी थी इजाजत
राखी सिंह सहित पांच महिलाओं ने सिविल जज सीनियर डिवीजन रवि कुमार दिवाकर के कोर्ट में याचिका दायर कर ज्ञानवापी परिसर स्थित मां श्रृंगार गौरी के मंदिर में नियमित दर्शन पूजन की अनुमति मांगी थी। 23 अगस्त को वाराणसी जिला न्यायालय में दोनों पक्षों की बहस पूरी होने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!