सत्य पथिक वेबपोर्टल/कोलंबो/Presidential Election in Shri Lanka: श्रीलंका में भयावह आर्थिक-राजनीतिक संकट के बीच आज बुधवार को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में मतदान होगा। सांसदों ने मंगलवार को राष्ट्रपति उम्मीदवारों के रूप में कार्यवाहक राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे (73), दुल्लास अल्हाप्पेरुमा (63) और अनुरा कुमारा दिसानायके (53) के नामों का प्रस्ताव किया। इससे पहले, विपक्षी उम्मीदवार साजिथ आर प्रेमदासा ने जीतने पर पीएम पद मिलने की शर्त पर अल्हाप्पेरुमा को समर्थन देते हुए अपना नाम वापस ले लिया। लिहाजा मुकाबला त्रिकोणीय होगा।

रानिल विक्रमसिंघे

अल्हाप्पेरुमा कट्टर सिंहली बौद्ध राष्ट्रवादी और सत्तारूढ़ श्रीलंका पोदुजाना पेरामुना (एसएलपीपी) पार्टी के सदस्य हैं। उन्हें मुख्य विपक्षी नेता एस. प्रेमदासा ने समर्थन देकर अपना नाम वापस लिया है। वहीं, दिसानायके वामपंथी जनता विमुक्ति पेरामुना (जेवीपी) के प्रमुख सदस्य हैं। नए राष्ट्रपति पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के शेष कार्यकाल नवंबर 2024 तक पद पर रहेंगे। 

दुल्लास अल्हाप्पेरुमा

अल्हाप्पेरुमा राष्ट्रपति बने तो प्रेमदासा होंगे पीएम
श्रीलंका की मुख्य विपक्षी पार्टी एसजेबी ने कहा है कि यदि सांसद दुल्लास अल्हाप्पेरुमा को राष्ट्रपति पद के लिए चुना जाता है तो पार्टी के नेता साजिथ प्रेमदासा को प्रधानमंत्री के रूप में नियुक्त किया जाएगा। पार्टी महासचिव रंजीत मद्दुमा बंडारा ने कहा अल्हाप्पेरुमा की पार्टी (एसएलपीपी) के साथ इसी शर्त पर समझौता हुआ है। बंडारा ने दावा किया कि अल्हाप्पेरुमा को 225 सदस्यीय संसद में नए राष्ट्रपति के रूप में चुने जाने के लिए पर्याप्त समर्थन हासिल है।

अनुरा कुमारा दिसानायके

संसद परिसर के आसपास सुरक्षा बढ़ाई
श्रीलंका की संसद के अध्यक्ष महिंदा यापा अभयवर्धने की शिकायत के बाद मंगलवार को श्रीलंका संसद परिसर में तथा उसके आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है। अभयवर्धने ने सांसदों को सोशल मीडिया पर धमकी देने वाले भड़काऊ संदेशों को लेकर आईजी पुलिस के समक्ष शिकायत दर्ज कराते हुए सघन जांच की मांग की थी। इसके बाद, मंगलवार को संसद परिसर और आसपास पुलिस, सेना के सशस्त्र जवानों को तैनात कर दिया गया है। सत्तारूढ़ पार्टी के सांसदों ने भी शिकायत की थी कि उन्हें सोशल मीडिया पर कार्यवाहक राष्ट्रपति विक्रमसिंघे के खिलाफ मतदान करने की धमकी दी जा रही है।

हमले में भारतीय घायल, उच्चायोग ने चेताया
श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग के वीजा केंद्र के निदेशक विवेक वर्मा हमले में घायल हो गए। भारतीय उच्चायोग ने भारत के नागरिकों को सतर्क रहने की चेतावनी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!