बोले SuperTech चेयरमैन आरके अरोरा-दूसरी इमारतों को नुकसान के डर से उस पूरी रात सो नहीं पाया मैं

सत्य पथिक वेबपोर्टल/नोएडा/SuperTech Chairman disclosed his pain: नोएडा स्थित ट्विन टावर्स की सैकड़ों करोड़ रुपये की लागत से कई सालों में बनकर तैयार हुईं गगनचुंबी इमारतों के बीते रविवार को महज 9 सेकेंड्स में जमींदोज हो जाने के बाद अब इसके निर्माता सुपरटेक लिमिटेड के मालिक का पक्ष सामने आया है। रियल एस्टेट कंपनी सुपरटेक (Supertech) के चेयरमैन आरके अरोरा ने अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि उस पूरी रात मैं सो नहीं पाया था।

हमने ही बनवाए और अपने खर्चे पर हमें ही तुड़वाने पड़े
सुपरटेक के चेयरमैन अरोरा ने बताया कि ट्विन टावर (Twin Towers) गिराए जाने के लम्हे मेरे लिए बेहद दर्द भरे थे। सुपरटेक चेयरमैन आरके अरोरा ने कहा कि हमने 2009 में ट्विन टॉवर्स बनवाने की शुरुआत की थी और बड़ी मेहनत से इसे तैयार किया था। रविवार को बिल्डिंग गिरने से पहले शनिवार की पूरी रात मैं सो नहीं पाया। उन्होंने कहा जिसे आपने बनाया हो और आप ही को अपने खर्चे पर उसे गिराना पड़े तो सोचिए दिल पर क्या बीतेगी।

सभी अप्रूवल्स लेने का किया दावा 
सुपरटेक चेयरमैन ने कहा कि इस बिल्डिंग को बनाते समय सभी अप्रूवल लिए गए थे और रहवासियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान भी रखा गया था लेकिन जिन बिल्डिंग्स को हमने सालों की मेहनत से तैयार किया, सुप्रीम कोर्ट ने उसे गिराने का आदेश दे दिया। हमने खुद इस बिल्डिंग को बनाया और इसे गिराने का खर्चा भी खुद ही उठाया है लेकिन हमने सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का पूरा पालन किया है। अरोरा बोले- “मैं रात भर यही सोचता रहा कि बिल्डिंग ठीक तरीके से धराशायी हो जाए और इसके गिरने से किसी दूसरी इमारत को कोई नुकसान न हो।
दावा, दूसरे प्रोजेक्ट्स पर नहीं पड़ेगा असर 
सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के चलते गिराए गए ट्विन टावर्स से कंपनी के दूसरे प्रोजेक्ट्स पर तो विपरीत असर नहीं पड़ेगा? इस सवाल के जवाब में अरोरा ने कहा कि हमने बीते 40 साल में 70,000 से ज्यादा घरों का पजेशन होमबायर्स (Supertech Homebuyers) को दिया है। आगे भी हम टाइम पर पजेशन देंगे। ट्विन टावर पर हुई कार्रवाई का असर हमारे किसी भी प्रोजेक्ट पर नहीं होगा। गौरतलब है कि सुपरटेक के विभिन्न प्रोजेक्ट्स में करीब 20,000 फ्लैट्स निर्माणाधीन हैं। आर के अरोरा ने कहा कि होमबायर्स को घबराने की जरूरत नहीं है। सभी प्रोजेक्ट्स में 70 से 80 फीसदी काम पूरा हो गया है। खरीददारों को तय समय पर ही उनके घर मिलेंगे। 

अरोरा बोले- हम करप्शन में शामिल नहीं
आर के अरोरा ने कहा कि 40 साल से रियल एस्टेट सेक्टर में हम काम कर रहे हैं। अप्रूवल कराते हैं और बिल्डिंग बनाते हैं। उन्होंने कहा कि हम किसी भी तरह के करप्शन में शामिल नहीं हैं। हमने सभी प्रोजेक्ट्स नियम-कायदों के तहत अप्रूवल लेकर ही पूरे किए हैं। गौरतलब है कि ट्विन टावर्स की 30 और 32 मंजिला दोनों इमारतों को 9000 छेदकर 3,700 किलोग्राम बारूद से विस्फोट करके बीते रविवार को गिराया गया था। 18 मीटर से ज्यादा ऊंची बिल्डिंग्स के बीच में फासले के विवाद को लेकर अरोरा ने कहा कि इस तरह की बिल्डिंग्स के बीच में 6 मीटर का स्पेस होना चाहिए, लेकिन हमने 9.78 मीटर का डिस्टेंस रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!